कनाडा के PM Justin Trudeau क्यों नहीं लोट पा रहे वापिस अपने देश?

भारत की राजधानी दिल्ली में अभी हाल ही में g 20 समिट का आयोजन हुआ जिसमे 20 देशो के प्रधानमंत्री प्रेजिडेंट और ब्यूरोक्रेट्स शामिल हुए। वही अब सब वापिस भी लोट गए है लेकिन अभी भी कनाडाई पीएम यही भारत में ही है। कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो (51) एयरबस विमान में खराबी आने के बाद अब तक नई दिल्ली में ही फंसे हैं। वे जी20 की 18वीं बैठक में भाग लेने के लिए भारत पहुंचे थे।

जिस विमान में खराबी आई है वह सीसी-150 पोलारिस है

सोमवार को भारत में फंसे कनाडाई प्रधानमंत्री ने राजधानी के ललित होटल में अपने कमरे में ही रहने का फैसला किया। कनाडाई पीएम के जिस विमान में खराबी आई है वह सीसी-150 पोलारिस है, जो कई संशोधित एयरबस ए310-300 में से एक है जिसे कनाडाई सशस्त्र बल अपने वीआईपी के लिए उपयोग करते हैं। वही आपको बता दे की वो ऐसे समय में भारत में फंसे हुए हैं जब रविवार को जारी किए गए एक बयान में भारत की ओर से ‘कनाडा में चरमपंथी तत्वों की भारत विरोधी गतिविधियों को जारी रखने के बारे में गंभीर चिंता’ व्यक्त की गई है।

कोलंबिया में एक गुरुद्वारे में खालिस्तान जनमत संग्रह की व्यवस्था की

इसके थोड़ी देर बाद, अलगाववादी समूह सिख फॉर जस्टिस ने रविवार को जल्दबाजी में कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया में एक गुरुद्वारे में खालिस्तान जनमत संग्रह की व्यवस्था की, यह एक ऐसा कदम है जिस पर भारत सरकार के स्तर पर नजर बनी हुई थी। आपको बता दे की सोमवार को ट्रूडो की भारत सरकार के किसी अधिकारी से कोई आधिकारिक मुलाकात नहीं हुई। विदेश मंत्रालय ने पुष्टि की कि उन्हें किसी अन्य आधिकारिक कार्यक्रम के लिए कोई अनुरोध नहीं मिला था और ट्रूडो की अगवानी के लिए नियुक्त राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर के कार्यालय ने भी पुष्टि की कि उनका कर्तव्य केवल कनाडाई प्रधान मंत्री के आगमन पर हवाई अड्डे पर उनका स्वागत करना था।

मंगलवार देर शाम तक ट्रूडो अपने देश के लिए रवाना हो सकते हैं

स्थानीय उच्चायोग में भी किसी कार्यक्रम का कोई संकेत नहीं मिला है। प्रधानमंत्री कार्यालय के प्रेस सचिव मोहम्मद हुसैन ने बताया, “कनाडाई सशस्त्र बल कनाडाई प्रतिनिधिमंडल को घर लाने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास जारी रखे हुए हैं। नवीनतम अपडेट मंगलवार देर शाम तक ट्रूडो अपने देश के लिए रवाना हो सकते हैं और इसलिए, ट्रूडो ने होटल में ही अपना दिन बिताया। मामले की जानकारी रखने वाले एक व्यक्ति ने बताया, ‘वह और उनका बेटा दोनों वहीं रुके थे। प्रधानमंत्री के 16 वर्षीय बेटे जेवियर भी उनके साथ भारत पहुंचे हैं वे नई दिल्ली के लिए उड़ान भरने से पहले वह जकार्ता और सिंगापुर भी गए थे।

प्रधानमंत्री के लिए वैकल्पिक विमान अब तक नहीं पहुंचा है

सूत्रों के अनुसार कनाडा और जापान के लोगों के लिए होटल ललित में अधिकांश कमरे बुक थे, लेकिन अब केवल 30 कमरे ही बुक हैं जिनमें कनाडाई पीएम, उनकी की कोर टीम और मीडिया ठहरी है। व्ही सूत्रों के अनुसार, ‘प्रधानमंत्री के लिए वैकल्पिक विमान अब तक नहीं पहुंचा है। दूसरे विमान के सोमवार रात करीब 11 बजे उतरने और मंगलवार दोपहर तक प्रस्थान करने की उम्मीद है। वहीं दूसरी ओर, कनाडा में पीएम के विमान खराब होने की घटना पर सवाल उठने लगे हैं। कमेंटेटर टॉम मुलकेयर ने सीटीवी पर प्रसारित होकर इस स्थिति को ‘असफलता’ करार दिया।

र्तमान में कनाडाई पीएम का जो विमान खराब हुआ है वह सीसी-150 पोलारिस है

उन्होंने कहा कि नए विमानों का ऑर्डर नहीं देना सरकार की घटिया हरकत है, जिससे ‘शर्मनाक हालात’ पैदा हो रहे हैं। दिल्ली में अधिकारियों ने बताया कि विमान को जीएमआर एयरोटेक देख रही है। 2018 में जब ट्रूडो एक राजकीय यात्रा के लिए भारत में थे, उस समय भी जिस ए-310 विमान से वे यात्रा कर रहे थे उसमें तकनीकी समस्या आई थी वर्तमान में कनाडाई पीएम का जो विमान खराब हुआ है वह सीसी-150 पोलारिस है, जो कई संशोधित एयरबस ए310-300 में से एक है, जिसका उपयोग कनाडाई सशस्त्र बल अपने वीआईपी के परिवहन के लिए करते हैं। फ्लाइट ट्रैकिंग वेबसाइटों के अनुसार, सीसी-150 पोलारिस की सटीक पंजीकरण संख्या 15001 है और यह 35.8 वर्ष पुराना है। जेट की उम्र, जबकि पुरानी है, इससे भी पुराने विमान राष्ट्राध्यक्ष इस्तेमाल करते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के एयर फोर्स वन विमान- जो बोइंग 747 पर आधारित दो वीसी-25ए हैं 36 साल से अधिक पुराने हैं।

Related articles

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

follow on google news

spot_img

Share article

spot_img

Latest articles

Newsletter

Subscribe to stay updated.