गहलोत सरकार का फरमान, सरकारी दस्तावेजों से हटेंगी पंडित दीनदयाल उपाध्याय की फोटो

राजस्थान में कांग्रेस सरकार के सत्ता में आने के बाद कई तरह के बदलाव किए जा रहे है। जिसके मद्देनजर प्रदेश के दो विश्वविधालयों को शुरु किए जाए के बाद गहलोत सरकार ने एक ओर नया कदम उठाया है।

गहलोत सरकार ने आदेश जारी किया है कि सभी सरकारी दस्तावेजों से पंडित दीनदायल उपाध्याय की तस्वीर हटाई जाएगी। वहीं सरकारी लेटर पैड पर दीनदयाल अपाध्याय की तस्वीर की जगह अब राष्ट्रीय चिन्ह अशोक चक्र होगा।

बता दें कि यह फैसला 29 दिसंबर को अशोक गहलोत के नेतृत्व में हुई कैबिनेट बैठक में लिलया गया है। जिसके मुताबिक 11 दिसंबर, 2017 को पूर्व की वसुंधरा सरकार द्वारा जारी आदेश को वापस ले लिया गया है।

जिसके मुताबिक राज्य के सभी राजकीय विभागों, निगमों, बोर्ड और स्वायत्तशासी संस्थाओं के लेटर पैड पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर का लोगो के रुप में इस्तेमाल किया जाता था।

कैबिनेट की बैठक में जारी किए गए इस आदेश को सभी अतिरिक्त मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, सचिव, डिविजनल कमिश्नर, जिला कलेक्टर और विभागों के मुखियाओं को जारी किया गया है।