सचिन पायलट ने की समर्थकों से धैर्य रखने की अपील

72

7 दिमस्बर को हुए विधानसभा चुनाव का परिणाम 11 दिसम्बर को सामने आया जो कंग्रेस पार्टी के हक में रहा। कंग्रेस पार्टी ने बहुमत के साथ इस बार विधानसभा के चुनाव में जीत हासिल की है लेकिन अभी राजस्थान में सीएम पद को चेहरा कौन होगा, इस बात से पर्दा नहीं उठा है। राजस्थान में सीएम के पद के लिए कुछ दावेदार है जिसमें से सचिन पायलट और दो बार सीएम रह चुके अशोक गहलोत पर चर्चा की जा रही है। लेकिन अभी भी सीएम के चेहरे का इंतजार बरकरार हैं।

अशोक गहलोत और सचिन पायलट में से कौन सीएम बनेगा इसका फैसला तो पार्टी के अध्यक्ष करेंगे लेकिन सचिन पायलट के समर्थकों की बैचेनी बढ़ती जा रही है और इसी बीच सचिन पायलट के समर्थकों ने करौली, दौसा, जयपुर में जमकर हंगामा किया। इतना ही नहीं सचिन के समर्थकों ने करौली में आगजनी भी कर दी।

पायलट या गहलोत? जानिए सीएम पद के लिए किसको मिला किसका समर्थन?

समर्थकों के उग्र व्यवहार को देखते हुए सचिन पायलट ने ट्वीट किया और अपने समर्थकों से शांति की अपील की है। उन्होंने लिखा कि सभी कार्यकर्ताओं से शांति एवं अनुशासन बनाए रखने की अपील करता हूं, मुझे हमारी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर पूरा विश्वास है। राज्य में सीएम पद के लिए माननीय राहुल गांधी जी एवं श्रीमती सोनिया गांधी जी जो फैसला लेंगे उसका हम स्वागत करेंगे। पार्टी की गरिमा बनाये रखना हम सभी की जिम्मेदारी है।

पहले चुनाव से ही जारी है राजस्थान में मुख्यमंत्री पद के लिए संघर्ष

कंग्रेस के कार्यकता सचिन पायलट ने मीडिया से भी अपील की है और कहा कि वे केवल प्रमाणित खबरों को ही चलाएं। सचिन पायलट ने ट्वीट किया कि मीडिया से आग्रह है कि कृपया अफवाहों को सभी के सामने ना लाए और केवल प्रमाणित खबरों को ही जनता तक पहुंचाए।

खबरें आ रही है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत राजस्थान में मुख्यमंत्री की रेस में सचिन पायलट को पीछे छोड़कर आगे निकल गए हैं। राजस्थान में अशोक गहलोत के समर्थक भी गोलबंदी कर रहे हैं और कुछ निर्दलीय विधायको ने अशोक गहलोत को सीएम बनाने की मांग की है।