8 सीटों पर 10 बागी चेहरे, जानिए किसने किसमें मारी सेंध

117

राजस्थान विधानसभा का चुनावी दंगल शुरू हो गया है। जिसमें भाजपा-कांग्रेस मैदान-ए जंग में घमासान के लिए तैयार हैं। राजस्थान का चुनावी इतिहास यूं तो भाजपा कांग्रेस के ईर्द गिर्द रहा है लेकिन इस बार चुनावी जंग में थर्ड फ्रंट के रुप में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के अध्यक्ष हुनमान बेनिवाल भी रेस में शामिल हैं। बता दें कि हनुमान बेनिवाल की पार्टी 57 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। वहीं दूसरी तरफ कहा जा रहा है कि वे लगभग 20 से 30 सीटों पर भाजपा और कांग्रेस को बड़ी टक्कर दे सकती हैं।

वहीं बात करें कांग्रेस-बीजेपी की तो कई ऐसे बागी चेहरे है जो विधानसभा सीटों पर बगावत करते नजर आ रहे हैं। ये कहना गलत नहीं होगा कि भाजपा और कांग्रेस की राजस्थान में जीत का रोड़ा थर्ड फ्रंट और 10 बागियों के चेहरे हैं। जो कि भाजपा और कांग्रेस की जीत का समीकरण बिगाड़ सकते हैं।

भाजपा से 6 बार विधायक और दो बार मंत्री रह चुके घनश्याम तिवाड़ी बागी होकर अपनी नई पार्टी भारत वाहिनी के साथ चुनावी मैदान में उतरे हैं। जो इस बार राजस्थान से लगभग 75 सीटों पर चुनाव लड़ने जा रही हैं।

चर्चा में टोंक विधानसभा सीट, अब तक कौन रहा है किस पर भारी?

बस्सीः लक्ष्मण मीना

लक्ष्मण मीना ने भी कांग्रेस से बागी होकर निर्दलीय उम्मीदवार के रुप में बस्सी से चुनाव लड़ने का फैसला किया है, वहीं इस बार फिर अंजू धानका बस्सी से चुनाव लड़ रही हैं। जो पिछले दो बार से जीत की हकदार रह चुकी हैं। इस बार फिर चुनावी मैदान में वे भाजपा-कांग्रेस को बराबर की टक्कर दे सकती हैं।

दूदू: बाबूलाल नागर

कांग्रेस से  3 बार विधायक और गहलोत सरकार में मंत्री रह चुके बाबूलाल नागर अब निर्दलीय उम्मीदवार के रुप में दूदू विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं।

आमेर: नवीन पिलानिया

राजपा छोड़ बागी हुए नवीन पिलानिया अब बसपा में शामिल होकर आमेर विधानसभा क्षेत्र से अपनी दावेदारी ठोक रहे हैं।

कोटपूतली: रामस्वरुप कसाना

कांग्रेस से बागी होकर रालोपा में शामिल हुए रामस्वरुप कसाना कोटपूतली से चुनाव लड़ने जा रहे हैं।

शाहपुरा: आलोक बेनिवाल

कांग्रेस से बागी हुए आलोक बेनिवाल अब निर्दलीय उम्मीदवार के रुप में शाहपुरा से चुनाव लड़ने जा रहे हैं।

विधाधर नगर: विक्रम सिंह राजपूत

कांग्रेस से बागी हुए विक्रम सिंह राजपूत अब निर्दलीय उम्मीदवार के रुप में विधाधर नगर चुनावी मैदान में उतरे हैं।

फुलेरा: स्पर्धा

कांग्रेस से बागी हुई स्पर्धा रालोपा से फुलेरा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रही हैं।

फुलेरा: दीनदयाल

भाजपा से बागी हुए दीनदयाल फुलेरा से निर्दलीय उम्मीदवार के रुप में चुनाव लड़ने जा रहे हैं।

राजस्थान विधानसभा चुनाव के ये 10 ऐसे चर्चित चेहरे है जिनका राजनितिक करियर चर्चाओं में रहा। ऐसे में ये देखना वाकई दिलचस्प होगा कि राजस्थान में ये 10 चेहरे जीत का क्या समीकरण बनाते हैं।