दुनिया की सबसे बड़ी गुफा का रहस्य, 50 लाख साल पुरानी इस गुफा में क्या है खास ?

Vietnam में एक गुफा है, जिसका नाम है Hang Son Doong cave. 2009 से पहले तक इस गुफा के बारे में कोई नहीं जानता था. यह गुफा Pliocene या Miocene समय की है, यानी करीब 20 से 50 लाख साल पुरानी है. इसकी लंबाई 5 किलोमीटर है और अंदर पूरे केव सिस्टम की ऊंचाई करीब 656 फुट है. इस गुफा का आकार इतना बड़ा है कि यह पृथ्वी पर अब तक की खोजी गई सबसे बड़ी गुफा है.

इस गुफा के केवल प्रवेश द्वार ही खोजा था

इससे पहले मलेशिया की डियर केव को दुनिया की सबसे बड़ी गुफा माना जाता रहा है. लेकिन हैंग सन डोंग केव, डियर केव से भी पांच गुना बड़ी है. इतनी बड़ी गुफा होने के बावजूद, 1991 में एक स्थानीय व्यक्ति हो खान ( Hồ Khanh) ने इस गुफा के केवल प्रवेश द्वार ही खोजा था. लेकिन अगले 18 सालों तक ये दोबारा गुमनाम हो गई. इसके बाद, 2009 में गुफा के ऊंचे प्रवेश द्वार का पता लगाने का काम किया British Cave Research Association की एक टीम ने. और इस खोज के बाद इस विशालकाय गुफा को डॉक्यूमेंट किया गया.

पार्क के ज़्यादातर केव सिस्टम आपस में जुड़े हुए हैं

वियतनाम के तट पर, Phong Nha-Ke Bang पार्क में स्थित है. पार्क में 150 से ज़्यादा चूना पत्थर (limestone) की गुफाएं और ग्रॉटोस (grottos) हैं, जिनमें से कई को अभी तक खोजा नहीं गया है. पार्क के ज़्यादातर केव सिस्टम आपस में जुड़े हुए हैं और तब इसकी लंबाई एकसाथ कुल 200 किलोमीटर बनाती है. सन डोंग के गलियारे का वॉल्यूम 3.84 करोड़ क्यूबिक मीटर, 9 किलोमीटर लंबाई और चौड़ाई 650 फीट है. यह वास्तव में इतना चौड़ा है कि एक बोइंग 747 सीधे इसमें से गुज़र सकता है. यह गुफा जंगल की हरियाली से घिरी हुई हैं और लेकिन इसका प्रवेश द्वार साफ दिखाई देता है, इसके द्वार की लंबाई 164 फीट है. इस गुफा के अंदर एक तेज बहने वाली नदी चलती है जिसकी वजह से यह गुफा हजारों साल पहले बनी थी.

इस गुफा में कुछ बहुत प्रभावशाली स्टैलेग्माइट्स भी पाए जाते हैं

बरसात के मौसम में यह नदी बाढ़ से भर जाती है और पूरी गुफाएं पानी से भर जाती हैं, तब यहां जाना बहुत मुश्किल हो जाता है. इस गुफा में कुछ बहुत प्रभावशाली स्टैलेग्माइट्स (stalagmites) भी पाए जाते हैं. जिसमें दुनिया का सबसे बड़ा स्टैलेग्माइट भी यहीं है, जो 70 मीटर ऊंचा है. इसे ‘हैंड ऑफ डॉग’ (Hand of Dog) कहा जाता है. गुफा में दो बड़े सिंकहोल भी हैं, जो रोशनदान की तरह हैं. माना जाता है कि दोनों सिंकहोल में से छोटे वाले को ‘वॉच आउट फॉर डायनासोर’ कहा जाता है. बड़े वाले को ‘द गार्डन ऑफ़ एडम’ कहा जाता है, जो 534 फीट तक फैला है. इन दोनों ही सिंकहोल के नीचे जंगल फैला हुआ है.

इन सिंकहोल्स के अंदर पक्षी, बंदर और सांप जैसे जानवर भी पाए जाते हैं

जंग के पेड़ 30 मीटर से भी ज़्यादा ऊंचे हो जाते हैं. इसी वजह से अक्सर गुफा में घूमने वाले लोग मोटी झाड़ियों के बीच रास्ता भटक जाते हैं. इन सिंकहोल्स के अंदर पक्षी, बंदर और सांप जैसे जानवर भी पाए जाते हैं. यहां ऐसी प्रजातियां भी हैं जो विलुप्ति की कगार पर हैं, इसलिए उम्मीद की जा रही है कि इन गुफाओं में ये जानवर सुरक्षित रहेंगे. गुफा का एक हिस्सा ऐसा है जहां बारिश का पानी नहीं भरता है. यह हिस्सा 40 करोड़ साल पुराने जीवाश्मों से भरा हुआ है जो पूरी तरह से संरक्षित हैं.इस गुफा को नेशनल ज्योग्राफिक ने 2010 में मैप किया था और इसका एक वर्चुअल टूर ऑनलाइन भी उपलब्ध है.

यह सुरंग 1 किलोमीटर लंबी है

हालांकि, यह माना जाता है कि अभी तक इस गुफा का केवल 30 प्रतिशत हिस्सा ही एक्सप्लोर किया गया है. 2019 में, ब्रिटिश गोताखोरों की एक टीम गुफा के पानी के मार्ग का पता लगाने के लिए निकली. कुछ 393 फीट पानी के नीचे उन्होंने एक और सुरंग की खोज की जो गुफा से जुड़ती है. यह सुरंग 1 किलोमीटर लंबी है. विशेषज्ञ अभी भी यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि अंदर पानी कहां से बहता है, कुछ शोधकर्ताओं का मानना ​​है कि यह एक और भी बड़ी, अनदेखी गुफा से जुड़ती है. आज गुफा के बारे में बहुत ही कम जानकारी है. यहां कम ही लोग आते हैं. हर सीज़न में सिर्फ 1000 लोगों को ही यहां आने की इजाज़त होती है. और हर यात्री को यहां आने के लिए करीब 3,000 डॉलर चुकाने होते हैं.

Related articles

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

follow on google news

spot_img

Share article

spot_img

Latest articles

Newsletter

Subscribe to stay updated.