तो नरेंद्र मोदी कभी प्रधानमंत्री नहीं बन पाते-गहलोतमोदी, बिरला, गजेंद्र सिंह पर मुख्यमंत्री का बड़ा जुबानी हमला

जयपुर, 1 अप्रैल | मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। इसी कड़ी में गहलोत ने कहा है कि कांग्रेस की दूरदर्शी सोच नहीं होती, तो नरेंद्र मोदी कभी प्रधानमंत्री नहीं बन पाते। वहीं गहलोत ने लोकसभा स्पीकर ओम बिरला के गढ़ में ही उन पर भी जमकर तंज कसे। गहलोत ने केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को भी निशाने पर लिया और राजस्थान के लिए कुछ भी नहीं कर पाने के आरोप लगा। इनके अलावा एक बात जो सबसे खास रही। वो ये है कि गहलोत ने साफ किया कि मैं चाहे पद पर रहूं या नहीं रहूं, मेरा हर पल जनता की सेवा में ही बीतेगा। गहलोत के इस बयान के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं।

…तो नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नहीं बन पाते
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि देश में लोकतंत्र को बनाने का काम कांग्रेस ने किया। कांग्रेस के नेताओं की ही सोच थी कि देश में आने वाले समय में सरकार बदलेगी। ऐसे में कांग्रेस ने जनता को अपनी सरकार चुनने का अधिकार दिया। इसी अधिकार के कारण आज नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने हैं। लेकिन आज ये लोग पूछते हैं कि आखिर कांग्रेस ने क्या किया है।

बेरोजगारी-महंगाई ने तोड़ी
गहलोत ने कहा कि आज मोदी सरकार के राज में देश के हालात खराब होते जा रहे हैं। बेरोजगारी और महंगाई ने कमर तोड़ रखी है। अमीर और अमीर हो रहा है, जबकि गरीब और गरीब हो रहा है।

बिना विपक्ष सत्ता का मान नहीं
गहलोत ने कहा कि लोकतंत्र में किसी भी सत्ता का मान तभी है, जब उसके सामने कमियां गिनाने के लिए विपक्ष हो। लेकिन मोदी सरकार को विपक्ष से कोई मतलब नहीं है। मोदी सरकार सत्ता के मद में चूर है। उन्हें अपनी कमियां सुनना पसंद ही नहीं है।

ओम बिरला ने नहीं रखा मान
गहलोत ने कहा कि राहुल की भारत जोड़ो यात्रा से घबराकर मोदी सरकार ने उनके खिलाफ षड्यंत्र किया है। संसद में राहुल गांधी को बोलने नहीं दिया गया। जबकि ओम बिरला को राहुल गांधी को समय देना चाहिए था। राहुल को बोलने नहीं दिया, तो वे माफी कैसे मांगेंगे,,और, माफी भी किस बात की मांगें। लोकसभा स्पीकर होने के नाते ओम बिरला को मान-मर्यादा का ध्यान रखना चाहिए। लेकिन लोकसभा में स्पीकर भी दबाव में काम कर रहे हैं। जबकि हमारे यहां विधानसभा में सी.पी. जोशी निष्पक्ष काम करते हैं। ओम बिरला को भी निष्पक्षता का पूरा ध्यान रखना चाहिए। स्पीकर बनने के बाद व्यक्ति किसी पार्टी का नहीं होता है।

हिंदुत्व पर भ्रम फैलाया, इसीलिए दंगे
गहलोत ने कहा कि आज भाजपा और आरएसएस की ओर से हिंदुत्व और राष्ट्रवाद के नाम पर भ्रम फैलाया जा रहा है। ये तरीका आज देश के लिए बहुत खतरनाक है। ये लोग ऐसे बातें करते हैं जैसे देश में और कोई हिंदू हैं ही नहीं। हिंदू राष्ट्र की बजाय 36 कौम की बातें करनी चाहिए। हिंसा का जवाब हिंसा कभी नहीं हो सकता है। भाजपा की ओर से धर्म के नाम पर भड़काया जा रहा है। इसी कारण रामनवमी के मौके पर जगह-जगह दंगे हुए। भाजपा को देश-प्रदेश के विकास से लेना-देना नहीं है।

भाजपा की भाषा बोल रहा अमृतपाल
गहलोत ने कहा कि जिस तरह भाजपा की ओर से हिंदू राष्ट्र की बात की जाती है। इसी के चलते अमृतपाल आज खालिस्तान की बातें कर रहा है। ये हालात कांग्रेस के समय भी बने थे, लेकिन तब इंदिरा गांधी ने खालिस्तान नहीं बनने दिया था। सबसे पहले मोदी सरकार और पंजाब सरकार इस मुद्दे को निपटाए। लेकिन मोदी सरकार तो विपक्ष को बदनाम करने में लगी है।

भाजपा ने बंद की योजनाएं, हमने नहीं
गहलोत ने कहा कि हमने राजस्थान में रिफाइनरी का काम शुरू करवाया। लेकिन वसुंधरा सरकार ने 5 साल काम बंद रखा। 41 हजार की रिफाइनरी 70 हजार करोड़ की हो गई है। जबकि हमने वसुंधरा सरकार की योजनाएं नहीं रोकी। राजस्थान में हम केवल विकास के काम कर रहे है। शिक्षा, बिजली सहित मूलभूत सुविधाओं पर काम किया।

गजेंद्र सिंह ने कुछ नहीं किया
गहलोत ने केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर भी जमकर निशाना साधा। गहलोत ने कहा कि महत्वपूर्ण मंत्रालय होने के बावजूद गजेंद्र सिंह भी कुछ नहीं कर पा रहे हैं। मोदी सरकार में गजेंद्र सिंह की कोई नहीं सुनता है। मोदी सरकार को भाजपा के समय की योजनाओं से भी कोई मतलब नहीं है। ना ही उन्हें राजस्थान से कोई मतलब है।

कोटा जैसा रिवर फ्रंट गुजरात में भी नहीं
गहलोत ने कहा कि कोटा के चंबल रिवर फ्रंट का पूरे देश में नाम हो रहा है। ऐसा रिवर फ्रंट तो मोदी गुजरात में भी नहीं बना पाए हैं। गहलोत ने नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल की तारीफ करते हुए कहा कि धारीवाल के काम करवाने का अंदाज निराला है। ये कोटा के काम के लिए हमें पटा ही लेते हैं। कोटा शहर को शांति धारीवाल ने चमन कर दिया है।

पद पर रहूं या नहीं, मेरा हर पल आपका
गहलोत ने एक बार फिर कांग्रेस सरकार बनाने का दावा करते हुए कहा कि जनता इस बार राजस्थान में बार-बार सरकार बदलने के ट्रेंड को बदल देगी। गहलोत ने कहा कि चाहे मैं किसी पद पर रहूं या ना रहूं। मेरा हर एक पल जनता की सेवा में ही बीतेगा।

Related articles

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

follow on google news

spot_img

Share article

spot_img

Latest articles

Newsletter

Subscribe to stay updated.