धर्मेन्द्र राठौड़ की अगुवाई में अन्तर्राष्ट्रीय पर्यटन व्यापार मेले में छाया राजस्थान

स्पेन की राजधानी मैड्रिड में 22 जनवरी 2023 तक आयोजित हो रहे अन्तर्राष्ट्रीय पर्यटन व्यापार मेला ‘FITUR-2023’ में राजस्थान छाया हुआ है। आज राजस्थान पैवेलियन में आरटीडीसी द्वारा चलाई जा रही शाही रेलगाड़ी पैलेस ऑन व्हील्स की मार्केटिंग एवं ब्रांडिंग को लेकर विशेष सत्र आयोजित हुआ। जिसमें भारतीय दूतावास के राजदूत दिनेश पटनायक मुख्य अतिथि रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता राजस्थान पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष धर्मेन्द्र राठौड़ ने की।

विशिष्ट अतिथि पर्यटन विभाग की प्रमुख शासन सचिव गायत्री राठौड़, आरटीडीसी के प्रबंध निदेशक विजयपाल सिंह, पर्यटन विभाग के अतिरिक्त निदेशक सलीम खान एवं उपनिदेशक नवकिशोर बसवाल ने पर्यटकों, निवेशकों और विजिटर्स के सवालों के जवाब दिए।

राजस्थान आने वालों को वीजा में प्राथमिकता

भारतीय दूतावास के राजदूत दिनेश पटनायक ने कहा कि पैलेस ऑन व्हील्स की बुकिंग के साथ राजस्थान घूमने जाने वाले पर्यटकों को वीजा के मामले में विशेष प्राथमिकता दी जाएगी। निगम अध्यक्ष धर्मेन्द्र राठौड़ ने कहा कि शाही रेलगाड़ी पैलेस ऑन व्हील्स को फिर से चलाना सबसे बड़ी चुनौती थी। पूरी दुनियां में 10 इस तरह की लग्जरी ट्रेन है, बाकी 9 ट्रेन अभी तक बन्द पड़ी है। पूरे विश्व में 10 लग्जरी ट्रेनों में 9 नहीं चली अभी तक, पैलेस ऑन व्हील्स का पुनः संचालन हमारे लिए गर्व की बात है।

राजस्थान बनेगा पर्यटन में सिरमौर

पर्यटन की दृष्टि से राजस्थान की पुरानी हवेलियां, गढ़, किले और रेगिस्तान के साथ लोक कलाएं, हस्तशिल्प आदि की दुनिया भर में खास पहचान है। प्रथम शाही रेल वर्ष 1982 में प्रारंभ हुई थी। रेलवे द्वारा समय-समय पर रेल की गेज परिवर्तन के फलस्वरूप मीटर गेज से ब्रॉड गेज ट्रेन वर्ष 1991 में दूसरी और 1995 में तीसरी शाही रेल का निर्माण किया गया। शाही रेलगाड़ी का सात दिवस का दिल्ली व आगरा के अलावा राजस्थान के खूबसूरत शहरों जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, चित्तौड़गढ़, जैसलमेर तथा भरतपुर का सफर देशी और विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करता है। राजस्थान अपनी नीतिगत पहल से इसे विश्व में पर्यटन सेक्टर में सिरमौर बनाने की तैयारी में है।

पैलेस ऑन व्हील्स का सफर बन रहा यादगार

राजस्थान के गौरवशाली इतिहास के दर्शन कराती पैलेस ऑन व्हील्स शाही रेल का सफर देशी और विदेशी पर्यटकों को आनंदित करता है। यहां पर पर्यटक अपने आप को राजसी माहौल में पाता है। इसमें आवभगत, स्वादिष्ट व्यंजन और पर्यटन निगम के अधिकारियों तथा कर्मचारियों की सेवा भावना व अतिथि सत्कार को देखकर पर्यटक रोमांचित होते हैं।

आरटीडीसी अध्यक्ष धर्मेंद्र राठौड़ ने कहा कि राजस्थानी आन बान एवं शान के साथ पैलेस ऑन व्हील्स 1982 से पटरियों पर दौड़ रही है।इस शाही ट्रेन को विश्व की सर्वश्रेष्ठ 10 लग्जरी ट्रेनों में दूसरा स्थान, वर्ष 1987 में इसे पी.ए.टी.ए. गोल्ड अवार्ड, वर्ष 2011 में सी.एन.बी.सी. अवाज द्वारा भारत में सर्वश्रेष्ठ लग्जरी ट्रेन अवार्ड, वर्ष 2013 में टुडे ट्रेवलर मैगजीन द्वारा उत्तर भारत की सर्वश्रेष्ठ लग्जरी ट्रेन अवार्ड, वर्ष 2015 में कोड नास्ट ट्रेवलर मैगजीन द्वारा विश्व की 5वीं सर्वश्रेष्ठ लग्जरी ट्रेन का अवार्ड तथा वर्ष 2018 में पी.ए.टी.डब्ल्यू.ए. ट्रेवल राइटर एसोसिएशन अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है।

Related articles

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

follow on google news

spot_img

Share article

spot_img

Latest articles

Newsletter

Subscribe to stay updated.