विधानसभा में पेपर लीक को लेकर आरएलपी का हंगामा, बेनीवाल बोले- भाजपा-कांग्रेस एक

जयपुर। विधानसभा के बजट सत्र की शुरूआत ही हंगामे के साथ हुई। विधानसभा में राज्यपाल कलराज मिश्र ने अभिभाषण पढ़ना शुरू किया तो विपक्ष के साथ ही आरएलपी विधायकों ने पेपर लीक की जांच सीबीआई से कराने को लेकर नारेबाजी शुरू कर दी। इस दौरान आरएलपी के विधायक तख्तियां लेकर वेल में आ गए। राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान वो हंगामा करते रहे। विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीपी जोशी ने आरएलपी के तीनों विधायकों को नाम लेकर पुकारा और कहा कि वे नियमों के अनुरूप सदन को चलने दें नहीं तो उन्हें बाहर कर दिया जाएगा। इसके बाद भी वो हंगामा करते रहे। इसके बाद आरएलपी के तीनों विधायकों को एक दिन के लिए सदन से निलंबित कर दिया गया।

सत्ता के इशारों पर आरएलपी विधायकों को निकाला बाहर

राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान हंगामा करने के चलते आरएलपी के तीनों विधायकों को एक दिन के लिए सदन से निलंबित कर दिया गया है। आरएलपी विधायक के निलंबन को लेकर आरएलपी सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल ने कहा कि पेपर लीक मामलों की सीबीआई से जांच करवाने की मांग को लेकर राजस्थान की विधानसभा में RLP प्रदेश अध्यक्ष व भोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग, खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल व मेड़ता विधायक इंदिरा देवी बावरी लोकतांत्रिक रूप से प्रदर्शन करके राजस्थान के युवाओं की पीड़ा को आसन के समक्ष रख रहे थे। मगर सत्ता के इशारे पर आसन ने RLP के विधायकों को मार्शल बुलाकर बाहर निकाला और एक दिन के लिए निष्कासित किया ,यह लोकतंत्र की व्यवस्था का अपमान है। एक तरफ विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी लोकतंत्र की व्यवस्था को सशक्त करने की बात करते है दूसरी तरफ निष्पक्ष भूमिका निभाने के स्थान पर राज्य सरकार के इशारे से युवाओं की आवाज उठाने वाले आरएलपी विधायको को सदन से निष्कासित करते है।

भाजपा की सीबीआई जांच की मांग औपचारिक

विधानसभा में पेपर लीक की जांच सीबीआई से कराने की मांग को लेकर विपक्ष ने हंगामा किया। हालांकि भाजपा की ओर से सीबीआई जांच की मांग को आरएलपी ने औपचारिक बताया है। विधायक नारायण बेनीवाल ने कहा कि आज भाजपा का दोहरा चरित्र सदन में देखने को मिला। जब मार्शल RLP विधायकों को बाहर निकाल रहे थे तब भाजपा के विधायक मुकदर्शक बनकर बैठे रहे। जबकि पूर्व में कभी ऐसा कोई वाक्या सदन में होता था तो समूचा विपक्ष, विपक्ष के सभी विधायकों का संरक्षण करता आता रहा है। चाहे वो किसी भी दल से हो। भाजपा पेपर लीक मामलो में सीबीआई जांच की मांग केवल औपचारिक रूप से कर रही है और अंदरखाने कांग्रेस के साथ है। इसके साथ ही हनुमान बेनीवाल ने भी भाजपा की सीबीआई की मांग को दिखावा बताया है। भाजपा और कांग्रेस इस मामले में एक हैं।

पीछे नहीं हटेगी आरएलपी

विधायक नारायण बेनीवाल ने विधानसभा के बाहर मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि हम युवाओं की मांग को सदन में उठा रहे थे। जिसे दबाने की कोशिश की जा रही है। आरएलपी युवाओं की मांग पुरजोर तरीके से उठाएगी। उसमें वो किसी तरह पीछे नहीं हटने वाली है। चाहे ये कितना ही उन्हें दबाने की कोशिश करें। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पेपर लीक की जांच सीबीआई से होती है तो भाजपा के भी मामले निकलकर सामने आ जाएंगे।

Related articles

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

follow on google news

spot_img

Share article

spot_img

Latest articles

Newsletter

Subscribe to stay updated.