अलवर कांग्रेस में बगावत शुरू, जिला प्रमुख बलबीर छिल्लर ने BJP प्रत्याशी भूपेंद्र यादव को दिया समर्थन; जानें क्यों हो रहा है विरोध?

चौक टीम, जयपुर। राजस्थान में कांग्रेस ने अलवर से मुंडावर से विधायक ललित यादव को टिकट दिया है। पूर्व सांसद करण सिंह यादव को टिकट नहीं देकर कांग्रेस ने साफ संकेत दिया है कि अब पार्टी में युवाओं को मौका दिया जाएगा। लेकिन अब अलवर कांग्रेस में बगावत खुलकर सामने आ गई है। अलवर से पूर्व सांसद और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डॉ करण सिंह ने बगावती तेवर अपना लिए। वहीं किशनगढ़ बास से कांग्रेस प्रत्याशी रहे संदीप यादव ने भी ललित यादव को टिकट मिलने पर विरोध जताया है। ये दोनों नेता टिकट नहीं मिलने का कारण पूर्व केंद्रीय मंत्री भंवर जितेंद्र सिंह को बता रहे हैं।

बलबीर छिल्लर ने भूपेंद्र यादव को समर्थन दिया

इधर, कांग्रेस से बगावत करते हुए अलवर जिला प्रमुख बलबीर छिल्लर ने BJP प्रत्याशी भूपेंद्र यादव को समर्थन दिया है। बताया जा रहा है कि जिला प्रमुख बलबीर छिल्लर ललित यादव को टिकट मिलने से नाराज है। वहीं ये भी जानकारी निकल कर सामने आ रही है कि बलबीर छिल्लर चुनावों में भाजपा के पक्ष में प्रचार करेंगे। सियासी गलियारों में ये भी चर्चा है कि अलवर जिला प्रमुख बलवीर छिल्लर बीजेपी ज्वॉइन कर सकते हैं।

इसके अलावा पूर्व प्रधान सवित यादव, अंजली यादव, मुंडावर के करण सिंह चौधरी, बहरोड़ नगर पालिका चेयरमैन सीताराम, प्रधान पति बस्तीराम, नगर पालिका बर्डोद चेयरमैन पूजा निबोरिया ने भी कांग्रेस छोड़कर बीजेपी का दामन थामा है। सभी जिला प्रमुख छिल्लर के साथ डॉ. जसवंत यादव के घर गए थे। बहरोड़ से बीजेपी विधायक ने इसकी पुष्टी भी की है।

दोनों नेता टिकट नहीं मिलने पर नाराज

आपको बता दें डॉ करणसिंह यादव खुलकर पूर्व केंद्रीय मंत्री भंवर जितेंद्र सिंह पर आरोप लगा रहे हैं और संदीप यादव इशारों में उनका नाम ले रहे हैं। दोनों नेताओं का कहना है कि उन्हें साइड कर कांग्रेस अब चुनाव जीतकर ही दिखा दे। डॉ करण सिंह ने तो भाजपा प्रत्याशी भूपेंद्र यादव की जीत का दावा किया है। बताया जा रहा है कि ये दोनों नेता बुधवार को फूलबाग में बुलाई कांग्रेस की मीटिंग में भी नहीं पहुंचे। जानकारी के मुताबिक दोनों नेता टिकट नहीं मिलने पर नाराज हैं।

ललित यादव पहली बार विधायक बने हैं

आपको बता दें ललित यादव पहली बार मुंडावर से कांग्रेस के विधायक बने है। इससे पहले 2018 में वह मुंडावर से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़े थे, लेकिन तीसरे स्थान पर रहे। इस बार विधानसभा चुनाव से पहले वह कांग्रेस में शामिल हो गए थे। ललित यादव को पूर्व केंद्रीय मंत्री भंवर जितेंद्र सिंह का करीबी माना जाता है। राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि जितेंद्र सिंह के कहने पर ही ललित यादव को टिकट मिला है।

Related articles

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

follow on google news

spot_img

Share article

spot_img

Latest articles

Newsletter

Subscribe to stay updated.