अपनी जीत की उम्मीद से अशोक गहलोत ने बोल दी बड़ी बात

0
27

राजस्थान विधानसभा चुनाव को लेकर इन दिनों हर किसी पार्टी के सदस्य अपनी जीत का इंतजार कर रहे है। इसी बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ने कहा कि वह फिलहाल मुख्यमंत्री पद को लेकर नहीं बल्कि अपनी पार्टी को प्राथमिकता दे रहे हैं, उन्होंने कहा कि पार्टी की जीत मेरे लिए पहली प्रायोरिटी है मुख्यमंत्री का पद नहीं।

इस बार जारी हुए सभी एग्जिट पोल सर्वे में ये ही सुना जा रहा है कि राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी विजयी होगी। ऐसे में कांग्रेस के सभी उम्मीदवार राजस्थान विधानसभा चुनाव में अपनी जीत सुनिश्चित करके चल रहे है। इसी बात पर अशोक गहलोत ने कहा कि पार्टी की जीत बड़ी है मुख्यमंत्री का पद नहीं।

राजस्थान की इस सीट पर हुआ पति-पत्नी के बीच कड़ा मुकाबला

सूत्रों की मानें तो सीएम पद के लिए राजस्थान में सचिन पायलट से भी ज्यादा लोग अशोक गहलोत को पसंद कर रहे हैं। अशोक गहलोत ने कहा अब लोगों को कांग्रेस की जरूरत है। हम कांग्रेस को एक मजबूत पार्टी कैसे बनायेंगे? वर्तमान में हमारे पास राजस्थान विधानसभा में 21 सीटें और लोकसभा में 44 सीटें हैं।

गहलोत ने इतना कहने के बाद कहा कि मैं मुख्यमंत्री के पद पर ही नहीं बल्कि किसी भी स्थिति में राजस्थान के लोगों की सेवा करना जारी रखूंगा।

इसी के साथ उन्होेंने अपनी जीत की उम्मीद के साथ ये भी कहा कि भारत देखेगा कि अगली सरकार कांग्रेस की ही बनेगी। उन्होंने कहा कि अगर करीब 150 सीटें भी हम जीतते हैं तो इसमें आश्चर्यचकित होने की कोई बात नहीं होगी। उन्होंने ये भी कहा कि अगली सरकार कांग्रेस की ही बनेगी। एक्जिट पोल भी यही बता रहे हैं कि सरकार कांग्रेस की होगी।

चुनाव 2018ः ये है वो सीटें, जिनकी जीत पर टिकी सभी की नजर

देशभर में अपनी रैलियों के दौरान राहुल गांधी और सचिन पायलट ने बीजेपी के कामों का खुलासा किया और बीजेपी के कई झूठे वादों को भी सभी के सामने रखा। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने राज्य में कोई काम नहीं किया है। पिछली बार चुनाव जीतने के बाद वसुंधरा राजे ने आम लोगों से ना ही बात की बल्कि ना ही लोगो से उनकी तकलीफों को जानने की कोशिश की।