‘संयम रखें, कुछ दिन बाद आपके बीच उपस्थित रहूंगा…’, BJP से टिकट कटने के बाद राहुल कस्वां का बयान; क्या कांग्रेस में जाने का है प्लान?

चौक टीम, चुरू। बीजेपी ने बीते शनिवार को आगामी लोकसभा चुनाव के लिए 195 उम्मीदवारों के नामों के साथ अपनी पहली सूची जारी कर दी है। इस लिस्ट में 34 मौजूदा सांसदों के टिकट कटे हैं, इनकी जगह नए उम्मीदवारों को मौका दिया गया है। इसी कड़ी में राजस्थान की चुरू लोकसभा सीट से वर्तमान सांसद राहुल कस्वां का भी टिकट काट दिया है। भाजपा ने राहुल कस्वां की जगह पैरालंपिक खिलाड़ी देवेंद्र झाझड़िया को अपना उम्‍मीदवार घोषित किया है। अब राहुल कस्वां के टिकट कटने की चर्चाएं राजनैतिक गलियारों में गूंज रही हैं।

वहीं, टिकट कटने के बाद कल से ही सांसद राहुल कस्वां की प्रतिक्रिया को इंतजार हो रहा था। इसके बाद राहुल कस्वां ने आज अपने सोशल प्लेटफॉर्म X पर पोस्ट करते हुए लिखा है कि, “राम-राम मेेरे चूरू लोकसभा परिवार! लेकर विश्वास-पाकर आपका साथ, देकर हर संकट को मात, ध्येय मार्ग पर बढ़ते जाएंगे, उत्थानों के शिखर चढ़ते जाएंगे। आप सभी संयम रखें। आगामी कुछ दिन बाद आपके बीच उपस्थित रहूंगा, जिसकी सूचना आपको दे दी जाएगी।”

टिकट कटते ही कांग्रेस पार्टी ने दिया ऑफर

बता दें इससे पहले चुरू से टिकट गंवाने के बाद कांग्रेस से राहुल कस्वां को टिकट ऑफर किया है। बीकानेर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष विशनारान सियाग ने एक्स प्लेटफॉर्म पर पोस्ट कर लिखा कि ‘अगर राहुल कस्वां कांग्रेस से चुनाव लड़े तो जीत 100% पक्की।’ जिसके बाद कस्वां के कांग्रेस में शामिल होने को लेकर कयास लगाए जा रहे है।

आपको ये भी बता दें चूरू लोकसभा सीट से लगातार राहुल का कस्वां का विरोध किया जा रहा था। स्थानीय लोग इस बात से नाराज थे कि स्थानीय सांसद उनकी उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे। कई स्थानों पर उनके विरोध में पोस्टर लगाकर भी विरोध किया गया। पोस्टर में लिखा था- ‘मोदी जी आपसे बैर नहीं, चूरू सांसद राहुल कस्वां अब स्वीकार नही।’ जिसके बाद भाजपा आलाकमान ने टिकट काटना ही उचित समझा।

क्या राहुल कस्वां की टिकट राजेंद्र राठौड़ की वजह से कटी?

चर्चाएं हैं कि हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान राहुल कस्वां ने बीजेपी प्रत्याशी राजेंद्र राठौड़ की मदद नहीं की थी। इसी वजह से उनका टिकट काटा गया है। बता दें राजेंद्र राठौड़ और कस्वां के बीच अदावत कई बार मीडिया में सामने आ चुकी थी। जिसके बाद कथित तौर पर राजेंद्र राठौड़ के समर्थकों ने चूरू में ही राहुल कस्वां के खिलाफ अभियान शुरू कर दिया और जगह-जगह विरोध के सुर उठना शुरू हुआ।

बता दें पिछले साल दिसंबर 2023 में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने तारानगर सीट से पार्टी के दिग्गज नेता राजेंद्र राठौड़ को चुनाव मैदान में उतारा था। लेकिन राजेंद्र राठौड़ को विधानसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा। वे 10,345 वोटों से हार गए थे। राठौड़ की हार के बाद ऐसी खबरें आई कि लोकसभा सांसद राहुल कस्वां ने राठौड़ का समर्थन नहीं किया। पार्टी के कई नेताओं ने कस्वां पर खुल्लम खुल्ला आरोप भी लगाया था।

जानिए कौन हैं राहुल कस्वां?

राजस्थान के शेखावाटी क्षेत्र में एक जिला है चूरू। इस जिले में कस्वां एक बड़ा राजनैतिक परिवार है जो कई दशकों से राजनीति में है। कस्वां परिवार की तीसरी पीढ़ी के राहुल कस्वां वर्तमान में चूरू लोकसभा क्षेत्र से सांसद हैं। राहुल कस्वां वर्ष 2014 और वर्ष 2019 में लगातार दो बार भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर लोकसभा सदस्य चुने गए हैं। वर्ष 2014 में वे सबसे कम उम्र के सांसद बने थे। इस बार पार्टी ने उनका टिकट काट दिया है।

इन 5 वर्तमान सांसदों के कटे टिकट

भाजपा ने अपनी पहली लिस्ट में राजस्थान के पांच वर्तमान सांसदों के टिकट काट दिए है। इनमें बांसवाड़ा (एसटी) कनकमल कटारा, भरतपुर (एससी) से रंजीता कोली, चूरू से राहुल कस्वां, जालोर-सिरोही से देवजी पटेल और उदयपुर (एसटी) रिजर्व सीट से अर्जुनलाल मीणा का टिकट काट दिया गया।

Related articles

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

follow on google news

spot_img

Share article

spot_img

Latest articles

Newsletter

Subscribe to stay updated.