राजस्थान में ‘भारत बंद’ का दिखा छिटपुट असर! मोदी के कार्यक्रम का विरोध करने पर हनुमानगढ़ में लाठीचार्ज, किसानों के फूटे सिर

चौक टीम, जयपुर। हनुमानगढ़ जिला मुख्यालय पर एमएसपी गारंटी कानून बनाने की मांग को लेकर किए गए भारत बंद के आह्वान के बीच शुक्रवार को जिला मुख्यालय पर किए जा रहे विरोध-प्रदर्शन के दौरान किसान उग्र हो गए। आक्रोशित किसानों ने ट्रैक्टरों पर सवार होकर जंक्शन में बाइपास रोड स्थित डीएवी सेंटेनरी पब्लिक स्कूल में चल रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विकसित भारत संकल्प यात्रा के लाभार्थियों से वर्चुअली संवाद कार्यक्रम स्थल में जबरन घुसने का प्रयास किया। इसके बाद पुलिस ने किसानों पर लाठीचार्ज किया। इससे एक किसान को सिर फूट गया, कई किसान घायल हो गए।

पुलिस के हाथ-पांव फूले, हुई झड़प

डीएवी स्कूल के पास किसानों और पुलिस के बीच मे झड़प हो गयी। इससे मौके पर तैनात पुलिस अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए। प्रधानमंत्री मोदी के वर्चुअल कार्यक्रम स्थल तक जबरन पहुंचने का प्रयास कर रहे किसानों को रोकने के लिए पुलिस अधिकारियों के निर्देश पर मौके पर तैनात पुलिस और आरएसी जवानों ने किसानों को खदेड़ने के लिए हल्का लाठीचार्ज शुरू कर दिया। इससे किसान नेताओं के चोट भी आई। किसान सद्दाम हुसैन सिर में चोट लगने से लहूलुहान हो गया। जिसे किसानों ने ट्रॉमा सेंटर में भर्ती करवाया।

दरअसल, न्यूनतम समर्थन मूल्य गारंटी कानून बनाने सहित विभिन्न मांगों को लेकर किसानों का आज दिल्ली में महापड़ाव है। वहीं, किसानों ने आज ग्रामीण भारत बंद भी बुलाया है।

जिलाध्यक्ष बोले- आंदोलन को कांग्रेस का समर्थन

हनुमानगढ़ कांग्रेस जिलाध्यक्ष सुरेंद्र दादरी ने कहा- मोदी सरकार ने सत्ता में आने से पहले घोषणा पत्र में किसानों की आय दोगुनी की बात की थी। महीनों चले आंदोलन में 700 से ज्यादा किसान शहीद हुए,अब फिर से बॉर्डर पर गए किसानों पर सरकार ने आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठियां बरसाईं। हम संयुक्त किसान मोर्चा के भारत बंद का समर्थन करने आए हैं।

पंजाब-हरियाणा के तीन में से दो बॉर्डर सील

श्रीगंगानगर जिले के पंजाब के साथ लगते हिंदुमलकोट और साधुवाली बॉर्डर को आज चौथे दिन भी सील रखा गया है, लेकिन पतली बॉर्डर को आवागमन के लिए खुला रखा गया है। पंजाब आने और जाने वाले सारे ट्रैफिक को इसी बॉर्डर से डायवर्ट किया गया है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि इस रास्ते से आने जाने वाले हर वाहन को कड़ी चेकिंग के बाद अनुमति दी जा रही है। किसानों का बड़ा मूवमेंट हुआ तो इस रास्ते को भी बंद कर दिया जाएगा। सभी चेक पोस्ट पर लोहे और सीमेंट के बैरिकेडिंग लगाए गए हैं। साथ ही पुलिस, आरएसी और एसटीएफ के जवान तैनात हैं।

जीकेएस के प्रवक्ता संतवीर सिंह का कहना है कि शुक्रवार को जिले भर में किसान संगठन विरोध प्रदर्शन करेंगे। सभी एसडीएम ऑफिस पर किसान धरना देंगे। जिले के अधिकतर किसान पंजाब गए हुए हैं। ऐसे में चक्का जाम नहीं किया गया है, लेकिन विरोध प्रदर्शन के माध्यम से अपना रोष व्यक्त किया जाएगा। जिला मुख्यालय सहित सादुलशहर, करणपुर, पदमपुर, सूरतगढ़ सहित अनूपगढ़ जिले में भी आज किसान धरना प्रदर्शन करेंगे।

डीडवाना में दिखा असर

दिल्ली किसान आंदोलन के तहत डीडवाना में एक बार फिर किसान अपनी विभिन्न मांगों को लेकर आंदोलनरत हो गए। इसको लेकर शुक्रवार को किसानों की ओर से भारत बंद का आह्वान किया गया। इस बंद के तहत आज डीडवाना कस्बा संपूर्ण रूप से बंद नजर आया। बता दें कि इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर तमाम तरह के व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रखे गए।

इसको लेकर संयुक्त किसान मोर्चा के सदस्यों ने व्यापारियों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि आपने किसानों की मांगों को उचित समझा है और उनके समर्थन में अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रखे हैं। जानकारी के मुताबिक जिले में कुछ जगहों पर बसों का संचालन पूरी तरह से बंद है। सादुलशहर संगरिया श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़-अबोहर मार्ग पर बसें नहीं चल रही है, जिससे यात्रियों को भारी परेशानी हो रही है।

Related articles

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

follow on google news

spot_img

Share article

spot_img

Latest articles

Newsletter

Subscribe to stay updated.