जाली भारतीय मुद्रा तस्करी प्रकरण में फरार तस्कर गिरफ्तार

29

जयपुर 19 सितम्बर। एसओजी की टीम ने गुरुवार को जाली भारतीय मुद्रा तस्करी प्रकरण में फरार वांछित अभियुक्त मुकेश पुत्र बाखर राम बिश्नोई निवासी खारा थाना फलोदी जोधपुर को गिरफ्तार किया है। 8 जुलाई 2019 को फलोदी जिला जोधपुर में कार्रवाई करते हुए एसओजी ने ₹96000 की जाली भारतीय मुद्रा व 8 जिंदा कारतूस बरामद कर तीन तस्करों को गिरफ्तार किया था। अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस एटीएस एवं एसओजी श्री अनिल पालीवाल ने बताया कि 8 जुलाई 2019 को एसओजी की टीम ने ओसियां जिला जोधपुर निवासी हड़मानाराम पुत्र श्री सोनाराम विश्नोई व फलोदी जिला जोधपुर निवासी सुनील कुमार पुत्र श्री खेत सिंह विश्नोई (25) को गिरफ्तार कर उनके पास से 96 हजार रुपये के जाली नोट तथा 7.65 एमएम के 8 जिंदा कारतूस बरामद किए गए थे। साथ ही दोनों आरोपियों की सूचना पर अयुब खान पुत्र सुल्तान खान (25) निवासी लौहारकी, तहसील पौखरण थाना रामदेवरा, जिला जैसलमेर को भी जाली नोट तस्करी में गिरफ्तार किया था। अभियुक्त से जाली भारतीय मुद्रा के स्रोत के संबंध में गहनता से पूछताछ की जा रही है.

संजीवनी क्रेडिट-कॉपरेटिव सोसायटी लिमिटेड के 4 वर्तमान व भूतपूर्व अध्यक्ष व मुख्य कार्यकारी अधिकारी गिरफ्तार

जयपुर 19 सितम्बर। अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस एटीएस एवं एसओजी श्री अनिल पालीवाल ने बताया कि एसओजी ने संजीवनी क्रेडिट-कॉपरेटिव सोसायटी लिमिटेड ने राजस्थान में 211 एवं गुजरात की 26 शाखाओं सहित भारत के 2 राज्यों में 237 से अधिक शाखाएं खोलकर राजस्थान के करीब 1 लाख 46 हजार 991 निवेशकों से 953 करोड रुपए से अधिक निवेश राशि हासिल कर ठगी करने वाले सोसाइटी के वर्तमान एवं भूतपूर्व अध्यक्ष व मुख्य कार्यकारी अधिकारी नरेश सोनी, वर्तमान कार्यकारी अधिकारी किशन सिंह चुली, भूतपूर्व अध्यक्ष देवी सिंह (2016 से 2018 तक) तथा भूतपूर्व अध्यक्ष शैतान सिंह (2014 से 2016 तक) को गिरफ्तार किया है। श्री पालीवाल ने बताया कि अनुसंधान से यह तथ्य उजागर हुए की संजीवनी क्रेडिट-कॉपरेटिव सोसायटी लिमिटेड की लेखा पुस्तकों में करीब 1100 करोड रुपए के ऋण दर्शित किए गए हैं, जिनमें अधिकांश बोगस है। इन ऋणों को स्वीकृत करने में आज गिरफ्तार किए गए चारों अभियुक्तों की महत्वपूर्ण भूमिका सामने आई है। जिन पर अनुसंधान जारी है।