गुर्जर समुदाय प्रभावित 55 सीटों मे सेंध लगाएंगे पीएम मोदी

डा. प्रदीप चतुर्वेदी- राजनीतिक विश्लेषक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनावी सक्रियता अभियान 2023 के चलते 28 जनवरी को राजस्थान के भीलवाड़ा जिले के आसींद में आएंगे। देवनारायण भगवान की जयंती पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम को मोदी के संबोधित करने का कार्यक्रम प्रस्तावित है। इससे पहले ही 23 जनवरी को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी प्रदेश के दौरे पर हैं। ऐसे में इन दोनों के प्रदेश में आने को लेकर कई तरह के राजनितिक कयास लगाए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि पीएम मोदी का आसींद में भगवान देवनारायण की 1111वीं जयंती पर होने वाले कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे।

राजस्थान में भीलवाड़ा जिले के आसींद में भगवान देवनारायण का मंदिर है। प्रदेश की 18 सीटें गुर्जर बाहुल्य है। माना जा रहा है कि भाजपा पीएम मोदी के इस कार्यक्रम से गुर्जर मतदाताओं को साधेगी। प्रदेश में सचिन पायलट को मुख्यमंत्री नहीं बनाए जाने से गुर्जर समुदाय में कांग्रेस से नाराजगी है। राजस्थान में इसी साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं। पायलट को मुख्यमंत्री नहीं बनाए जाने से नाराज गुर्जर समुदाय को भाजपा ने अपने पक्ष में करने के लिए पीएम मोदी का आसींद में कार्यक्रम प्रस्तावित करवाया है। चर्चा है कि पीएम मोदी के दौरे के बाद गुर्जर समुदाय का झुकाव भाजपा की तरफ हो सकता है।

पीएम मोदी का राजस्थान में यह दौरा उस समय हो रहा है जब अजमेर में देवनारायण मंदिर की दीवार को राजस्थान सरकार के पीडब्ल्यूडी विभाग ने गिरा दिया था। विवाद बढ़ने पर प्रशासन को झुकना पड़ा और दीवार वापस बनाने के साथ ही दोषियों पर कार्रवाई का आश्वासन भी देना पड़ा। ऐसे में इस दौरे के दौरान पीएम मोदी राजस्थान में गहलोत सरकार को आड़े हाथ ले सकते हैं। भाजपा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे को लेकर तैयारियां शुरू कर दी है। बीजेपी के प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह ने पार्टी मुख्यालय पर हुई कोर कमेटी की बैठक में भी पीएम मोदी के दौरे को लेकर पदाधिकारी से चर्चा की। बैठक के बाद उन्होंने पीएम के दौरे की पुष्टि की | पीएम मोदी के कार्यक्रम में बीजेपी के सांसद, विधायक, पदाधिकारी और कार्यकर्ता शामिल होंगे।

भीलवाड़ा जिले के आसींद में भगवान देवनारायण की जयंती के मौके पर होने वाले कार्यक्रम में शामिल होकर पीएम मोदी पूर्वी राजस्थान और गुर्जर समुदाय में बड़ा संदेश देंगे। राजस्थान में 14 जिलों में 18 सीटों पर गुर्जर बाहुल्य मतदाता हैं। जबकि 55 सीटों को गुर्जर समुदाय प्रभावित करता है। 10 विधानसभा सीटों पर ज्यादातर कांग्रेस के विधायक जीत कर आए हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट के समर्थन में गुर्जर समुदाय ने कांग्रेस को एकमुश्त मतदान किया था। अब पीएम मोदी के दौरे के जरिए भाजपा ने गुर्जर वोट बैंक में सेंध लगाने की तैयारी कर ली है।

नोट – यह लेखक के निजी विचार है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here