मोटरसाइकिल चोर को खंबे से बांधकर की धुनाई

532

जयपुर के हरमाड़ा थाना क्षेत्र में देर रात एक युवक घर के बाहर खड़ी मोटरसाइकिल को चुरा ले जा रहा था. जहां मोटरसाइकिल चुरा कर ले जाते हुए लोगों ने देखा तो युवक को धर दबोच लिया और और खंभे से बांधकर जमकर युवक की धुनाई कर दी और तुरंत पुलिस को सूचना दी. सूचना पर मौके पर पहुंची हरमाड़ा थाना पुलिस ने चोर को ग्रामीणों के चुंगल से छुड़ाकर थाने ले आई. जानकारी के पुलिस ने बताया कि स्थानीय निवासियों के अनुसार हरमाड़ा क्षेत्र के नांगलवाड़ी गांव में देर रात घर के बाहर मोटरसाइकिल खड़ी थी. जहां एक युवक आया और मोटरसाइकिल को चुरा ले जा रहा था. इसी दौरान मोटरसाइकिल चुराते हुए लोगों ने देखा तो युवक को धर दबोच लिया और खंभे से बांधकर युवक की जमकर धुनाई कर दी. पुलिस को सूचना दी, जहां सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और युवक को हिरासत में लेकर थाने ले गई. .पुलिस ने बताया कि आरोपी से पूछताछ की जा रही है.

जयपुर के टोंक रोड़ पर पलटी मिनी बस

राजधानी जयपुर में नगर निगम के सामने टोंक रोड पर आज सुबह अनियंत्रित होकर मिनी बस पलट गई । घटना में एक दर्जन से ज्यादा सवारियां घायल हुई जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया। गनीमत रही कि किसी भी सवारी को कोई गंभीर चोट नहीं आई । मिली जानकारी के अनुसार तेज रफ्तार मिनी बस ओवरटेक करने के चक्कर में पलट गई, वहीं हादसे के बाद मिनी बस का चालक मौका पाकर बस छोड़कर फरार हो गया । वहीं सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने क्रेन की सहायता से बस को सड़क किनारे खड़ा करवाया । फिलहाल पुलिस फरार बस चालक की तलाश में जुटी है.

मोबाइल सिम छिपाकर जेल में जा रहा था बदमाश

राजधानी जयपुर में एक बंदी अपने गुप्तांग में सिम छिपाकर जयपुर सेंट्रल जेल में लेकर जा रहा था. लेकिन तलाशी में पकड़ा गया. इस सम्बंध में जेल प्रहरी ने लालकोठी थाने में मामला दर्ज करवाया है. पुलिस के अनुसार चोरी का मोबाइल खरीदने के मामले में माणकचौक थाना पुलिस ने सूरजपोल निवासी दीपक उर्फ दीपू को अरेस्ट किया था. आरोपी के पास से दो मोबाइल जब्त किए गए। पूछताछ के बाद पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेसी भेज दिया गया। माणकचौक थाना पुलिस उसे लेकर जयपुर सेंट्रल जेल पहुंची। वही जेल के अंदर ले जाने से पहले बंदियों की त्रिस्तरीय जांच होती है। आरएसी के जवानों ने बंदी की तलाश ली तो उसने अपने गुप्तागों में कुछ छिपा रखा था। परीक्षण किया तो दो अलग-अलग कम्पनी की सिम मिली।

आरएसी के जवानों ने इस मामले में माणकचौक थाने में तैनात एएसआइ जयराम से भी जानकारी ली है। थाने की बैरक से कोर्ट में पेशी तक एएसआइ जयराम बंदी दीपक के साथ था। लालकोठी पुलिस मामले में जांच कर रही है.