ब्राह्मण समाज ने गुलाबी नगरी में दिखाई अपनी ताकत, देश-विदेश से जुटे लाखों लोग…सरकार के सामने रखी ये 10 बड़ी मांगे

चौक टीम, राजस्थान। विधानसभा चुनाव से पहले एक बार फिर ब्राह्मण समाज ने शक्ति प्रदर्शन किया. जयपुर में आयोजित इस ब्राह्मण महासंगम में बॉलीवुड सेलिब्रिटी से लेकर राजनीतिक और सामजिक क्षेत्रों से जुड़े 8 देशों के लोग पहुंचे हैं. यहीं नहीं विभिन्न संगठनों के लोग व राजनेता एक जाजम पर दिखाई दिए हैं. बता दें कि 10 मुख्य मांगों के लेकर यह महासंगम किया गया.

ब्राह्मण समाज लगातार कर रहा संघर्ष

इस दौरान सर्व ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित सुरेश मिश्रा ने बताया कि पिछले लंबे वक्त से ब्राह्मण समाज अपनी मांगों के लिए संघर्ष कर रहा है. प्रदेश में एक करोड़ से ज्यादा की आबादी होने के बावजूद ब्राह्मणों को उनके हक का प्रतिनिधित्व अब तक नहीं मिल पाया है. ऐसे में आज न सिर्फ राजस्थान बल्कि यूके, अमेरिका, यूएई, दुबई, इटली, कनाडा, नेपाल, सिंगापुर से भी लोग पहुंचे हैं.

बीडी कल्ला ने केंद्र सरकार पर हमला बोला

शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला ने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि केंद्र सरकार ब्राह्मणों को दिए गए आरक्षण को रोक रही है. राजस्थान की सरकार ने ब्राह्मणों को 14% आरक्षण दे दिया है. जबकि केंद्र की सरकार ने ब्राह्मणों को सिर्फ 10% तक ही आरक्षण दिया है.

सांसद के खिलाफ हुई नारेबाजी

जयपुर सांसद रामचरण बोहरा का संबोधन शुरू होने के साथ ही विरोध शुरू हो गया. जैसे सांसद बोहरा बोलने लगे तो लोग सांसद के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. इसे रोकने के लिए बोहरा ने भी आग्रह किया. लेकिन जब भीड़ नहीं मानी तो बोहरा अपना संबोधन रोक भीड़ से पूछने लगे अगर आप लोगों को पसंद नहीं तो मैं नहीं बोलूं. इसके बाद महेश जोशी ने समझाइश करते हुए कहा कि ये राजनीतिक नहीं सामाजिक कार्यक्रम है. वहीं, मंत्री महेश जोशी के भाषण के दौरान भी नारेबाजी हुई.

महासंगम की प्रमुख 10 मांगें

आर्थिक आधार पर 14 प्रतिशत आरक्षण दिया जाए.
भगवान परशुराम विश्वविद्यालय की स्थापना की जाए.
भगवान परशुराम जी की 111 फीट प्रतिमा की स्थापना की जाए.
राजस्थान के प्रत्येक जिले में गुरुकुल की स्थापना कर वैदिक संस्कृति को बढ़ाया जाए.
ब्राह्मण बालिकाओं के लिए हर जिले में छात्रावास की स्थापना की जाए.
ब्राह्मणों को प्रमुख दल कम से कम 35 टिकट विधानसभा में और लोकसभा में कम से कम 5 टिकट दिए जाएं.
ईडब्ल्यूएस आरक्षण में आय सीमा 8 लाख की जगह 12 लाख की जाए.
ईडब्ल्यूएस आरक्षण में हो रही विसंगतियों को दूर किया जाए.
ब्राह्मण आरक्षण आंदोलन के समय लगाए गए मुकदमें वापिस लिए जाएं.
पुजारी प्रोटेक्शन बिल पारित किया जाए.1

महासंगम में शामिल हुए ये नेता

महासंगम में जलदाय मंत्री डाॅ. महेश जोशी, शिक्षा मंत्री डाॅ. बीडी कल्ला, सांसद रामचरण बोहरा, विधायक रामलाल शर्मा, विधायक रामलाल शर्मा, राजस्थान विप्र कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष महेश शर्मा, खादी बोर्ड के अध्यक्ष ब्रजकिशोर शर्मा, समाज कल्याण बोर्ड अध्यक्ष अर्चना शर्मा, महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष सुमन शर्मा, राष्ट्रीय महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष ममता शर्मा, कर्मचारी चयन आयोग के पूर्व चेयरमैन हरिप्रसाद शर्मा, पूर्व मेयर विष्णु लाटा सहित बड़ी संख्या में राजनेता, जनप्रतिनिधि एवं सामाजिक संगठन के जुटे लोग शामिल हुए.

  1. ↩︎

Related articles

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

follow on google news

spot_img

Share article

spot_img

Latest articles

Newsletter

Subscribe to stay updated.