राज्यसभा चुनाव के लिए राठौड़ और गरासिया ने भरा पर्चा, वसुंधरा राजे, सीएम भजनलाल और दीया कुमारी बने प्रस्तावक; ये है गणित

चौक टीम, जयपुर। बीजेपी के राज्यसभा उम्मीदवार चुन्नीलाल गरासिया और मदन राठौड़ ने नामांकन दाखिल कर दिया है. विधानसभा में शुभ मुहूर्त पर 12:15 बजे दोनों उम्मीदवारों ने अपना नामांकन दाखिल किया। इस दौरान मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोश, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, पूर्व नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़, उप मुख्यमंत्री दीया कुमारी और प्रेमचंद बैरवा मौजूद रहे।

दरअसल, राज्यसभा चुनाव को लेकर राजस्थान से बीजेपी के दोनों उम्मीदवार आज नामांकन दाखिल कर दिया. इससे पहले चुन्नीलाल गरासिया और सरकारी मुख्य सचेतक जोगेश्वर गर्ग विधानसभा पहुंचे। इस दौरान मीडिया से बात करते हुए गरासिया ने कहा कि मैं पीएम मोदी की ताकत बनूंगा। दक्षिणी क्षेत्र से आता हूं, बीजेपी को वहां मजबूत करूंगा। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी मेरी मां है।

बीजेपी ने आदिवासी और ओबीसी वोटबैंक को साधा

बीजेपी ने दोनों उम्मीदवारों को टिकट देकर आदिवासी और ओबीसी को लोकसभा चुनाव के लिहाज से साधा है। पाली जिले के रहने वाले मदन राठौड़ मूल ओबीसी है, दो बार 2003 और 2013 में सुमरेपुर से विधायक रहे थे। 2013 में उपमुख्य सचेतक भी रहे।

वहीं, चुन्नी लाल गरासिया मूल रूप से डूंगरपुर के बिलुडा गांव के रहने वाले हैं, आदिवासी अंचल से आने वाले गरासिया को पार्टी ने उम्मीदवार बनाकर मूल आदिवासी वोट बैंक में बड़ी सेंधमारी की है। माना जा रहा है कि पार्टी को इसका लोकसभा चुनाव में बड़ा लाभ मिलने वाला है. गरासिया ने 2018 और अगला 2023 के विधानसभा चुनाव में उदयपुर ग्रामीण और गोगुंदा से विधायक के लिए दावेदारी की थी मगर दोनों जगह से उन्हें टिकट नही मिला था।

चौथा उम्मीदवार नहीं तो, निर्विरोध होगा चुनाव

निर्वाचन विभाग की ओर से जारी कार्यक्रम के अनुसार आज नामांकन दाखिल करने का अंतिम दिन है, सुबह 11 बजे से अपरान्ह 3 बजे तक विधानसभा में जमा किए जा सकते हैं. अब तक कांग्रेस की से सोनिया गांधी ने नामांकन दाखिल किया है. नामांकन पत्रों की संवीक्षा 16 फरवरी को विधानसभा के कमरा नं. 751 में होगी। अभ्यर्थी 20 फरवरी तक नाम वापस ले सकेंगे, आवश्यक होने पर मतदान 27 फरवरी को प्रातः 9 बजे से सायं 4 बजे तक होगा। मतदान के बाद मतगणना इसी दिन सायं 5 बजे से होगी।

दो सीट पर भाजपा और एक सीट पर कांग्रेस की जीत तय

उल्लेखनीय है कि राजस्थान से राज्यसभा में दस सीट हैं। इनमें से डॉ. मनमोहन सिंह (कांग्रेस) और भूपेंद्र यादव (भाजपा) का कार्यकाल 3 अप्रैल 2024 को पूरा हो रहा है। जबकि डॉ. किरोड़ीलाल मीणा (भाजपा) ने विधानसभा चुनाव जीतने के बाद राज्यसभा सांसद के पद से इस्तीफा दे दिया था। ऐसे में राजस्थान की तीन राज्यसभा सीटों पर आगामी दिनों में चुनाव होने हैं। विधायकों की संख्याबल के हिसाब से तीन में से दो सीट पर भाजपा और एक सीट पर कांग्रेस के प्रत्याशी की जीत तय है।

राजस्थान में आती हैं 10 राज्यसभा सीटें

राजस्थान में 3 राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव होने हैं। जिनमें नामांकन दखिल करने की अंतिम तिथि 15 फरवरी है। विधानसभा में संख्या बल के बहुमत के हिसाब से इनमें से 2 सीटें बीजेपी और एक सीट कांग्रेस के खाते में जानी तय है। राजस्थान में 10 राज्यसभा सीटें आती हैं। इनमें से 6 पर कांग्रेस और 4 पर बीजेपी के सांसद हैं। हालांकि कांग्रेस के टिकट पर बाहरी व्यक्तियों को सांसद बनाए जाने का मुद्दा हर बार उठता है, लेकिन सोनिया गांधी के नाम पर किसी को आपत्ति नहीं है।

Related articles

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

follow on google news

spot_img

Share article

spot_img

Latest articles

Newsletter

Subscribe to stay updated.